खूंखार बैटर को 18 दिन में 2 बार मिली टीम इंडिया में जगह, डेब्यू अभी भी बाकी, कहा- रोज करता था 6 घंटे प्रैक्टिस


नई दिल्ली. टीम इंडिया अभी वेस्टइंडीज के दौरे पर है. 3 अगस्त से 5 मैचों की टी20 सीरीज शुरू हो रही है. इसके बाद टीम को 3 मैचों की टी20 सीरीज के लिए आयरलैंड भी जाना है. आयरलैंड सीरीज के लिए  बाएं हाथ के आक्रामक बैटर रिंकू सिंह को भी टीम इंडिया में जगह मिली है. आईपीएल 2023 में रिंकू ने कोलकाता नाइट राइडर्स की ओर से ताबड़तोड़ प्रदर्शन किया था. रिंकू इससे पहले 14 जुलाई को एशियन गेम्स के लिए घोषित हुई टीम में भी जगह बनाने में सफल रहे थे. यानी 18 दिन में उन्हें 2 बार टीम इंडिया में चुना गया. हालांकि उनका इंटरनेशनल डेब्यू अभी भी बाकी है.

इंडियन प्रीमियर लीग के 16वें सीजन में 25 साल के रिंकू सिंह एक ओवर में 5 छक्के लगाकर सुर्खियों में आए थे. आयरलैंड दौरे की बात करें, तो तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को कप्तान बनाया गया है. वे लंबे समय बात वापसी कर रहे हैं. इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए उप्र के रिंकू ने कहा कि केकेआर टीम मैनेजमेंट और बैटिंग कोच अभिषेक नायर ने मुझे काफी सपोर्ट किया. मैं नेट्स पर हर रोज 5 से 6 घंटे बल्लेबाजी करता और नए शॉट्स सीखता था. मुझे लगता है कि 3 सालों में मैं एक ऑलराउंड बल्लेबाज बन गया. मैंने आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन किया, पहचान मिली और अब मुझे भारत की ओर से खेलने का मौका मिला है.

हम अभी भी रोने लगते हैं
रिंकू सिंह ने बताया कि मैं 6 साल से केकेआर के साथ हूं. शुरुआत में मुझे मौके मिले, लेकिन मैं उन्हें भुनाने में असफल रहा. मैंने टीम के साथ अपने शुरुआती वर्षों के दौरान बहुत कुछ सीखा है. मैंने मुंबई में केकेआर एकेडमी में अभिषेक नायर के साथ अपनी बल्लेबाजी पर कड़ी मेहनत की. वह सारी मेहनत अब रंग ला रही है. उन्होंने कहा कि यह एक अद्भुत एहसास है, जिसे शब्दों में बयां करना मेरे लिए आसान नहीं है. मैं एक भावुक व्यक्ति हूं और जब भी मैं अपने माता-पिता से बात करता हूं, हम रोने लगते हैं.

आईपीएल 2021 में नहीं मिला मौका
रिंकू सिंह का आईपीएल में सफर उतार-चढ़ाव भरा रहा. पहले 3 सीजन में वे प्रभाव नहीं छोड़ सके. इस दौरान उन्होंने 77 रन बनए. 2021 में वे एक भी मैच नहीं खेल सके. आईपीएल 2022 के दूसरे हाफ में उन्हें मौके मिले, लेकिन टीम को हार मिली. आईपीएल 2023 रिंकू के क्रिकेट लाइफ के लिए गेम चेंजर साबित हुआ. उन्होंने 150 की स्ट्राइक रेट से 474 रन बनाए. रिंकू सिंह ने बताया कि मैं अभी टीम इंडिया की ओर से खेलने को लेकर अधिक नहीं सोच रहा.

वर्ल्ड कप से पहले क्या बदलेगी ओपनिंग जोड़ी? बार-बार टीम को मिल रहा है धोखा, खूंखार बैटर का देख लीजिए रिकॉर्ड

रिंकू सिंह ने कहा अगर मैं बहुत ज्यादा सोचूंगा, तो चीजें बिखरने लगेंगी. मैं वर्तमान में जीता हूं और इसी तरह बल्लेबाजी भी करता हूं. लोग मुझसे उन 5 छक्कों और उसके पीछे की योजना के बारे में पूछते रहते हैं. हकीकत में कोई योजना नहीं थी. यह मेरा दिन था, मैंने हर गेंद को हिट किया और अच्छा कनेक्ट किया. यह सब भगवान की योजना थी, और कुछ नहीं. उन्होंने कहा कि सपने सच होते हैं, लेकिन इसके लिए कभी हार नहीं माननी चाहिए. जिंदगी और क्रिकेट में कोई शॉर्टकट नहीं है. यदि आप क्रिकेट से प्यार करते हैं, तो दौड़ते रहिए, इनाम मिलेगा.

Tags: Rinku Singh, Team india

Leave a Comment