19 साल की उम्र में भयानक एक्सीडेंट, ऋषभ पंत जैसा हो गया था हाल, अब फाइनल में चौके-छक्के से ठोका शतक


नई दिल्ली. एमआई न्यूयॉर्क ने मेजर लीग क्रिकेट के पहले सीजन का खिताब जीत लिया है. अमेरिका में पहली बार फ्रेंचाइजी टी20 लीग का आयोजन किया गया. फाइनल में एमआई ने सिएचल ऑर्कस को 7 विकेट से करारी शिकस्त दी. एमआई की कप्तानी वेस्टइंडीज के निकोलस पूरन कर रहे थे. नियमित कप्तान कायरन पोलार्ड चोट के कारण फाइनल से बाहर हो गए थे. फाइनल की बात करें, तो ऑर्कस ने पहले खेलते हुए 9 विकेट पर 183 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया था. क्विंटन डिकॉक ने 52 गेंद पर 87 रन की ताबड़तोड़ पारी खेली. जवाब में एमआई न्यूयॉर्क ने लक्ष्य को 16 ओवरों में 3 विकेट पर हासिल कर लिया. कप्तान निकोलस पूरन ने सिर्फ 40 गेंद पर शतक ठोक दिया. वे 55 गेंद पर 137 रन बनाकर नाबाद रहे. 10 चौका और 13 छक्का जड़ा. यानी उन्होंने सिर्फ बाउंड्री से 118 रन बना दिए.

27 साल के निकोलस पूरन के लिए हालांकि मैदान पर वापसी आसान नहीं रही. 2015 में यानी आज से 8 साल पहले उनका भयानक कार एक्सीडेंट हो गया था. उनका घुटना बुरी तरह टूट गया था. इस कारण उन्हें दोनों पैर की सर्जरी करानी पड़ी थी. पूरन ने इसके बाद भी हार नहीं मानी और उन्हें वापसी करने में लगभग 18 महीने लग गए थे. पिछले दिनों भारतीय विकेटकीपर ऋषभ पंत का भी एक्सीडेंट हुआ था. सर्जरी के बाद पंत अभी रिहैब पर हैं. उनकी वापसी में भी लंबा समय लग सकता है.

यह समय बेहद हताश करने वाला
निकोलस पूरन ने ऋषभ पंत के एक्सीडेंट के बाद कहा कि भारतीय खिलाड़ी के लिए यह बहुत चुनौतीपूर्ण समय है. मेरी पंत से बात होती है और हमारे अच्छे संबंध भी हैं. ऐसे समय में आप चाहते हैं कि जल्दी से उबरें, क्योंकि उबरने की यह प्रक्रिया बहुत डिप्रेसिंग होती है. कई बार मैं भी हताश हो गया था. मालूम हो कि 2015 में पूरन जब 19 साल के थे, तब उनका अभ्यास से घर लौटते समय कार एक्सीडेंट हो गया था. उनकी कार के ऊपर दूसरी कार चढ़ गई थी और वह बेहोश हो गए थे. उन्हें जब होश आया, तब वे हॉस्पिटल थे. उनके दाएं और बाएं दोनों पैर में गंभीर चोट आई थी.

खुद पर होना चाहिए भरोसा
निकोलस पूरन ने बताया कि ऐसे समय में कई बार आपको अपनी प्रगति का पता नहीं चलता. आप तेजी से ठीक होना चाहते हैं, लेकिन ऐसा होता नहीं है. यह किसी के लिए भी बहुत चुनौतीपूर्ण समय होता है, लेकिन आपको अपने आप पर विश्वास करना होता है. उन्होंने बताया कि इस कठिन समय के दौरान आपको यह स्वीकार करना होता है कि जो हुआ है, उसका कोई न कोई कारण है. आप उस पर सवाल नहीं उठा सकते, क्योंकि आपको उसका जवाब भी नहीं मिलेगा. आपको भगवान पर, अपने आप पर और अपनी मेहनत पर विश्वास करने की जरूरत होती है.

वर्ल्ड कप से पहले क्या बदलेगी ओपनिंग जोड़ी? बार-बार टीम को मिल रहा है धोखा, खूंखार बैटर का देख लीजिए रिकॉर्ड

वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान निकोलस पूरन के ओवरऑल टी20 करियर की बात करें, तो वे 255 पारियों में 5500 से अधिक रन बना चुके हैं. 2 शतक और 29 अर्धशत लगाया है. मेजर लीग क्रिकेट के फाइनल में खेली गई 137 रनों की नाबाद पारी उनकी बेस्ट पारी भी है. वे टी20 इंटरनेशनल में 9 अर्धशतक के सहारे लगभग 1500 रन बना चुके हैं. स्ट्राइक रेट 131 का है. पूरन ने वनडे की 58 पारियों में 3 शतक और 11 अर्धशतक के दम पर 1983 रन बनाए हैं. 118 रन बेस्ट प्रदर्शन है.

Tags: Major League cricket, Mumbai indians, Nicholas Pooran, Rishabh Pant

Leave a Comment